हैलो रायपुर
Hello Raipur
Reflection of Chhattisgarh
Home Management Fundas

कामयाबी के लिए कोमलता ना खोएं


लड़कि‍यां सॉफ्ट हार्टेड भले ही हों लेकि‍न वे अपने इरादों की भी पक्‍की होती हैं। एक बार अगर कुछ करने की ठान लें तो उनके लि‍ए कुछ भी मुश्किल नहीं है। एक महि‍ला अपनी संवेदनाओं के जरिए न केवल 'सर्वश्रेष्ठ कृति' का निर्माण करती है बल्‍कि‍ उन्हीं संवेदनाओं, भावनाओं, अहसासों और फिक्र के जरिए ही वह हर क्षेत्र में कामयाब हो सकती है।
अगर आप पुरूषों के कार्यक्षेत्र में पदार्पण कर रही हैं तो जरूरी नहीं कि उन्हीं के नक्शे-कदम पर चलें, वैसा ही आचरण करें। आप अपने व्यक्तित्व के अनुरूप व्यवहार कर अपने स्त्रियोचित गुणों का इस्तेमाल कर भी बेहतर कार्य कर सकती हैं।
आज समाज में महिलाओं की स्थिति में काफी बदलाव आ गया है, अब वे पढ़-लिखकर अपनी पहचान बनाने को आतुर हैं। शिक्षक और डॉक्टर जैसे सुरक्षित समझे जाने वाले पदों के अलावा वे व्यापार में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही हैं। जिन पारंपरिक व्यापार-व्यवसायों में अब तक पुरुषों का वर्चस्व माना जाता था, उनमें भी उनका आना प्रारंभ हो गया है।
आमतौर पर चूंकि व्यापार-व्यवसाय को पुरुषों का कार्य-क्षेत्र माना गया है, अतः समझा जाता है कि इस क्षेत्र में सफल होने के लिए आप में पुरुष-सुलभ गुण होना जरूरी हैं। लेकिन अब मार्केटिंग के जानकारों ने सिद्ध कर दिया है कि महिलाओं के प्रकृति-प्रदत्त गुण बिजनेस में सफलता दिलाने में भी कारगर होते हैं। अतः यदि आप भी कोई बिजनेस शुरू करने जा रही हैं, तो अपने स्त्री-सुलभ गुणों को दबाए नहीं, बल्कि उन्हें सफलता की सीढ़ी बनाएं। आइए, जानते हैं कैसेः
केयरिंग नेचर
अपनों की परवाह करने का गुण महिलाओं में ईश्वर प्रदत्त है। तो बस, आप अपने शेयर होल्डर्स, साझेदारों और ग्राहकों की भी इसी भाँति परवाह करें। इनके प्रति लापरवाह रहकर कोई बिजनेस सफल नहीं हो सकता।

पेशेंस
महिलाएं धैर्यवान होती हैं, तभी वे मां बनने के पहले नौ माह का लंबा समय आसानी से गुजार देती हैं। इसी तरह व्यापार में भी आप धैर्य से काम लें, अपने संगठन को भली-भांति समझें। यह कदापि न सोचें कि धैर्य से काम लेंगे तो काम की रफ्तार कम हो जाएगी या बिक्री कम हो जाएगी। धैर्यपूर्वक सोच-समझकर लिया गया निर्णय आपके बिजनेस को फायदा ही पहुँचाएगा।
कॉम्‍प्रोमाइज
टकराव और समस्याएं सुलझाने के मामले में महिलाओं में गजब का माद्दा होता है। घर-परिवार में अक्सर पति व बेटे के बीच टकराव में महिलाएँ ही सुलह कराती हैं। यह गुण अपना बिजनेस चलाने में बहुत काम आता है। कोई भी दफ्तर चलाते वक्त वैचारिक अथवा अहम्‌ के टकराव से दो-चार होना ही पड़ता है। महिला होने के नाते आप ऐसे टकराव से बेहतर तरीके से निपट सकती हैं।
नेटवर्किंग
व्यवसाय जगत में नेटवर्किंग का बड़ा महत्व है। अब जरा गौर करें, आप अपने पारिवारिक संबंधों को लेकर भी गंभीर होती हैं, सामाजिक संबंधों में दिलचस्पी भी लेती हैं और इन्हें लंबे समय तक कायम भी रखती हैं। इसी भांति अपने एम्पलॉई, शेयरहोल्डर और कस्टमर से संबंध बनाएं और उन्हें कायम रखें।
उल्लास
घर में कोई भी उत्सव हो, धार्मिक अनुष्ठान हो या छोटी-सी बर्थडे पार्टी ही क्यों न हो, सबके लिए महिलाएं हमेशा उल्लासित रहती हैं और पूरे जोशो-खरोश के साथ उसे सफल बनाने में जुट जाती हैं। अपनी कंपनी के ब्रांड को लेकर इसी भाँति उल्लासित रहना कामयाब बिजनेस वूमन बनने की आवश्यक शर्त है।

Tags :
About Management Business management People Management Management Lessons Motivational Stories Time Management Success Stories Inspirational Quotes Inspiring Storiesकामयाबीलिएकोमलताखोएं

कामयाबी के लिए कोमलता ना खोएं ज्ञान ख़ुशी है - Ravi Gill हाथ मिलाएँ और व्यक्तित्व जानें Intelligent Quotes मैं दुनिया को बदलना चाहते थ -अज्ञात संत द्वारा भगवान् की ओर से निर्देश खुफिया उद्धरण समय का उपयोग सफलता उद्धरण के सर्वश्रेष्ठ संग्रह ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने के लिए बीज की विधि - रवि गिल Never forget contributors of your sucess Positive Attitude इंटरव्यू के दौरान ध्यान रखें बॉडी लैंग्वेज का CORPORATE LESSON बहुत कुछ कहता है यह शब्द POSITIVE आपसे केवल सफलता को विकल्प मानें, सफल जरूर होंगे Self Motivation Techniques CORPORATE LESSON लगातार एक दिशा में बढ़ें, सफलता कदम चूमेंगी
1 | 2 | 3 |
Contact Us | Sitemap Copyright 2007-2012 Helloraipur.com All Rights Reserved by Chhattisgarh infoline || Concept & Editor- Madhur Chitalangia ||